कोरोना के खिलाफ PM ने राज्यों को दिया 4-T मंत्र, कहा- ‘जहां ज्यादा केस, वहां उतना ज्यादा फोकस’ 

Spread the love

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी को लेकर छह राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ शुक्रवार को बैठक की. प्रधानमंत्री ने कहा कि देश ने आपसी सहयोग और एकजुट प्रयास से कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई लड़ी. पीएम ने केरल और महाराष्ट्र में कोरोना के मामले बढ़ने पर चिंता जताई है. उन्होंने मुख्यमंत्रियों से कहा कि तीसरी लहर (Third Wave) को रोकने के लिए कोरोना के खिलाफ प्रभावी कदम उठाया जाना आवश्यक है. कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों के साथ संवाद शुरू किया है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि बहुत जरूरी है कि जिन राज्यों में केसेस बढ़ रहे हैं, उन्हें सक्रिय उपाय करते हुए तीसरी लहर की किसी भी आशंका को रोकना होगा. उन्होंने 4-T नीति पर जोर देते हुए कहा कि हमें टेस्ट, ट्रैक, ट्रीट और टीका की हमारी रणनीति फोकस करते हुए ही आगे बढ़ना है. माइक्रो-कंटेन्मेंट जोन पर हमें विशेष ध्यान देना होगा. जिन जिलों में पॉजिटिविटी रेट ज्यादा है, जहां से अधिक मामले आ रहे हैं, वहां उतना ही ज्यादा फोकस भी होना चाहिए. 

उन्होंने कहा कि शुरुआत में विशेषज्ञ ये मान रहे थे कि जहां से सेकंड वेव की शुरुआत हुई थी, वहां स्थिति पहले नियंत्रण में होगी लेकिन, महाराष्ट्र और केरल में मामलों में इजाफा देखने को मिल रहा है. ये वाकई हम सबके लिए, देश के लिए एक गंभीर चिंता का विषय है. एक्सपर्ट्स बताते हैं कि लंबे समय तक लगातार केसेस बढ़ने से कोरोना के वायरस में म्यूटेशन की आशंका बढ़ जाती है, नए नए वैरिएंट्स का खतरा बढ़ जाता है. इसलिए, तीसरी लहर को रोकने के लिए कोरोना के खिलाफ प्रभावी कदम उठाया जाना आवश्यक है. 

READ ALSO: अगस्त में आएगी कोरोना की तीसरी लहर, पहले की तुलना में रह सकती है हल्की : शीर्ष मेडिकल बॉडी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *