दायु साइंस कम्युनिकेशन योजना से विज्ञान क्षेत्र एवं बाल वैज्ञानिकों को मिलेगा बढ़ावा

Spread the love

राष्ट्रीय बाल विज्ञान संचालक रोहित कुमार गुप्ता ने विज्ञान संचारक व साइंस मेंटर श्री अमरेंद्र शर्मा जी को राष्ट्रीय स्तर पर आरंभ हुए दायु साइंस कम्युनिकेशन योजना की जानकारी देते हुए कहा कि बाल वैज्ञानिकों की प्रतिभा बढ़ाने हेतु महाराजगंज जिले में 1 जून से लागू करने के लिए अनुरोध किया, श्री अमरेंद्र शर्मा जी ने कहा कि DYAU विज्ञान संचार के लिए पंजीकरण 1 जून 2021 से शुरू होने जा रहा है। इस कार्यक्रम में कक्षा 6 से 12 तक के छात्र 15 जून 2021 से पहेल www.dyau.co.in या 09455058843 पर संपर्क कर पंजीकरण कर
सकते हैं। 20 जून 2021 को, IIT गुवाहाटी अपनी प्रयोगशाला से स्कूली छात्रों के लिए एक लाइव कार्यक्रम आयोजित करेगा, लाइव सत्र के बाद एक प्रश्नोत्तरी भी आयोजित की जाएगी। इस राष्ट्रीय कार्यक्रम में छात्र देश के किसी भी कोने से प्रत्येक माह के तीसरे रविवार को विभिन्न वैज्ञानिकों, विज्ञान की कहानियों, व्यवहारिक विज्ञान आदि से वचुअल मोड पर बातचीत करेंगे। यह स्कूली छात्रों के बीच वैज्ञानिक स्वभाव को बढ़ाएगा और पूछताछ की
भावन को बढाएगा। प्रत्येक बातचीत के बाद राष्ट्रीय स्तर की प्रश्नोत्तरी होगी। वर्ष पूरा होने के
बाद, छात्रों को एक दूरबीन बनाने की कार्यशाला में भाग लेने का मौका मिलेगा जहां वे सीखेंगे कि कैसे दूरबीन बनाना है और उन्हें अपनी दूरबीन प्राप्त करने का मौका मिलेगा। इसके अतिरिक्त पंजीकरण के बाद छात्रों को पूरे वर्ष “ई-विज्ञान” पत्रिका और एक विज्ञान समाचार पत्र मिलेगा ताकि छात्रों को अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय या राज्य स्तर पर विज्ञान के किसी भी क्षेत्र में विभिन्न योजनाओं में प्रतिभाग करने के लिए अवसर मिलेगा, भारत देश के संविधान में भारत के नागररकों को वैज्ञावनिक सोच रखने के
लिए प्रोत्सावहत करता है। अनुच्छेद “द” 51 ए (एच) के तहत मौविक कर्तव्यो के अनुसार: यह
भारत के प्रत्येक नागरिकों का कर्तव्य होगा की वह वैज्ञानिक स्वभाव, मानवतावाद और जांच
और सुधार की भावना विकसित करे।
DYAU विज्ञान संचार भारत का अग्रणी विज्ञान संचार नेटवर्क है जो स्कूलो, छात्रों और शिक्षकों को भारत
और दुनिया के प्रमुख वैज्ञावनकों, विशेर्ज्ञों, चिकित्सकों और वैज्ञानिक समुदायों के साथ बातचीत करने के लिए एक मंच प्रदान करता है जिससे स्कूली छात्रों में पूछताछ और वैज्ञानिक स्वभाव विकसित किया जा सके । यह भारत के प्रसिद्ध संस्थानों के युवा शोधकतायओं द्वारा एक अनुकरणीय शुरुआत है।
DYAU विज्ञान संचार के साथ 200 से अधिक जिला समन्वयक अगली पीढ़ी को विज्ञान की ओर प्रेरित करने के लिए आगे आए। DYAU साइंस कम्युवनकेशन योजन स्कूलो, शिक्षकों और छात्रों को अग्रणी वैज्ञानिक और समुदायों के साथ बातचीत करने के
लिए एक मंच प्रदान करना है, जहां छात्रों को मूल्यवान माना जाता है और उन्हें तर्कसंगत
रूप से सोचने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है और आजीवन शिक्षाथी बनने के लिए
पूछताछ और वैज्ञानिक स्वभाव विकसित किया जाता है। हमारी दृष्टि वैश्विक नागररकों के रूप में उनकी सोच में जिज्ञासु और प्रतिबिंब और आलोचनात्मक बनने के लिए छात्रों का समर्थन
करके पूछताछ की प्रकृति और र्तकसंगत सोच के माध्यम से छात्रों के समग्र विकास को
प्रोत्साहित करती है। छात्र अग्रणी वैज्ञानिकों, विशेर्ज्ञों और चिकित्साको के साथ संचार, सहयोग, क्यूरेट और सृजन करके प्रौद्योवगकी के माध्यम से नवीन और आत्मविश्रासी बन
जाएगा, जबकि सोच कौशल औ वास्तविक जीवन की समस्या-समाधान क्षमताओं के उच्च क्रम को बढ़ावा देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *