महराजगंज माध्यमिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश द्वारा संचालित स्ववित्त पोषित माध्यमिक विद्यालयों के प्रधानाचार्यों की ज़ूम मीटिंग जिला विद्यालय निरीक्षक अशोक कुमार सिंह के अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।

Spread the love

महराजगंज माध्यमिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश द्वारा संचालित स्ववित्त पोषित माध्यमिक विद्यालयों के प्रधानाचार्यों की ज़ूम मीटिंग जिला विद्यालय निरीक्षक अशोक कुमार सिंह के अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।
इस मीटिंग में माध्यमिक विद्यालयों के शैक्षणिक सत्र 2021-22 में ऑनलाइन/वर्चुअल क्लास के नियोजन के सदर्भ में चर्चा की गई।

जिला विद्यालय निरीक्षक ने सभी स्ववित्तपोषित विद्यालयों के प्रधानाचार्यों को निर्देशित किया कि जनपद के जिन विद्यालयों में अभी तक शासन के मंशानुरूप शैक्षणिक सत्र 2021-22 में अध्ययनरत कक्षा 9 से 12 तक के छात्र-छात्राओं के विद्यालयवार व्हाट्स ऐप ग्रुप नहीं बने है उनके प्रधानाचार्य ग्रुप बनाकर अविलम्ब पठन-पाठन प्रारम्भ कराएं।

साथ ही जो विद्यालय सक्षम हैं वे गूगल मीट, गोमीट, डुओ कॉल, ज़ूम मीटिंग आदि ऐप का उपयोग करते हुए पठन-पाठन प्रारम्भ कराएं।
उन्होंने बताया कि जनपद स्तर पर एक व्हाट्स ऐप ग्रुप पिछले वर्ष से ही सक्रिय है जिसमें विषयवार विशेषज्ञ शिक्षक अपने अपने विषय की शिक्षण सामग्री,ऑडियो,वीडियो व लिंक प्रेषित करते रहते हैं। यदि वित्तविहीन विद्यालय आवश्यक समझें तो समूह से शिक्षण सामग्री ले सकते है। जिला विद्यालय निरीक्षक ने बताया कि कोविड-19 संक्रमण को देखते हुए अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में पठन – पाठन हो सके इसलिए यह मीटिंग आयोजित की गई है। इस मीटिंग में अमरेन्द्र शर्मा, देवेंद्र पांडेय, कलीमुल्ला, विजयश्री मल्ल, रामनरायन मिश्र, डॉ राकेश तिवारी, रामाशीष यादव, अनिल त्रिपाठी व श्रीकांत गौड़ आदि ऑनलाइन क्लास विशेषज्ञ अध्यापकों ने भी अपने विचार व आवश्यक सुझाव रखे।

यद्यपि कुछ विद्यालयों में 20 मई से ही पठन पाठन प्रारम्भ है। विद्यालयों में शैक्षणिक सत्र 2021-22 को नियमित रखने के लिए समस्त अध्यापकों व प्रधानाचार्यो से आग्रह है कि पूर्ण मनोयोग से अपने-अपने विद्यालयों के छात्र-छात्राओं के पठन पाठन को नियमित रखने के लिए समर्पण भाव से कार्य करें। साथ ही अगर उन्हें शैक्षणिक गतिविधयों से सम्बंधित कुछ तकनीकी दक्ष और जानकारी हो तो शेयर भी करें। जनपद में कुल 177 वित्तविहीन विद्यालय हैं।
इस ज़ूम मीटिंग में कुल 86 वित्तविहीन विद्यालयों के प्रधानाचार्यों ने प्रतिभाग किया। जिसमें मुख्य रुप से राम इंद्र चक्रवर्ती, मेवालाल मौर्य, आफताब आलम, सर्वेश सिंह, शशिकला सिंह, ज्योतिष मणि त्रिपाठी, दिनेश राम त्रिपाठी, जन्मेजय सिंह, सौमित्र पांडेय, विष्णुदेव उपाध्याय, पूनम चौरसिया और सलीम अली आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *