वट सावित्री भरतीय संस्कृति मे संकल्प और साहस का प्रतीक है।

Spread the love

वट सावित्री भरतीय संस्कृति मे संकल्प और साहस का प्रतीक है।इसिलिए इस दिन महिलाए अपने परिवार और जीवनसाथी की दीर्घायु की कामना करते हुए । वट वृक्ष को भोग अर्पण करती है, उस पर धागा लपेट कर पूजा करती है।

राष्ट्रीय समाजसेवी परिषद के तत्वाधान में चलाए जा रहे वृक्षारोपण एवं पर्यावरण संरक्षण के अंतर्गत आज 10 जून को लगभग 21 पौधों को सिंदूरिया थाना महाराजगंज में लगाया गया,राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ नीरज कुमार यादव के दिशानिर्देशानुसार जिसमे भारतीय चिकित्सक संगठन के फार्मासिस्ट के जिला अध्यक्ष डॉ अनुराग नवल जी ने कहा !पेड़ हम सभी के जीवन के लिए काफ़ी महत्वपूर्ण है ! पेड़ ,पर्यावरण को सुरक्षित रखने मे भी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है, इसलिए‌ हम सभी का दायित्व है कि हम लोग पेड़ के महत्व को समझे‌ और इसे बचाने के लिए पर्यत्न करने क्योंकि जब हम सभी लोग मिलकर ज्यादा से ज्यादा पेड लगाएगे, तभी हम अपने पर्यावरण को बचा सकेंगे। थाना S.O. sir अजीत कुमार ,s.I.ओमप्रकश गुप्ता,s.I.ऋतुराज सुमन् यादव,H.C.विनोद कुमार कनौजियाँ.H.m.वीरेन्द्र प्रताप सिंह,महिला कस्टेबल.खुश्बु पाण्डेय, कस्टेबल राजेश् कुशवाह ,s.I.ऋतुराज सुमन् यादव ने बताया कि आजकल लोग अपने स्वार्थ‌ और लालच के लिए पेड़ो की अंधाधुन कटाई कर, पर्यावरण के साथ जमकर खिलवाड कर रहे है, मौजूद रहे !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *