संसद मॉनसून सत्र LIVE Updates: विपक्षी सांसदों के हंगामे के चलते दोनों सदनों की कार्यवाही एक घंटे के लिए स्‍थगित

Spread the love


Updated: July 22, 2021 11:21 AM IST Reported by: हिमांशु शेखर मिश्र

???? ?????? ???? LIVE Updates:  ??????? ??????? ?? ?????? ?? ???? ????? ????? ?? ????????? ?? ???? ?? ??? ???????

संसद के मॉनसून सत्र की 19 जुलाई से हंगामेदार शुरुआत हुई है (फाइल फोटो)नई दिल्ली: 

Parliament Monsoon Session LIVE: संसद के मॉनसून सत्र (Monsoon Session) की गुरुवार को हंगामेदार शुरुआत हुई है. सदस्‍यों के हंगामे के कारण लोकसभा और राज्‍यसभा की कार्यवाही गुरुवार को प्रारंभ होते ही स्‍थगित करनी पड़ी. लोकसभा की कार्यवाही के दौरान भी विपक्षी सांसदों ने हंगामा किया. स्‍पीकर ओम बिरला ने विपक्ष के हंगामे को अनुचित बताते हुए कहा कि सदन की मर्यादा बनाए रखना विपक्ष की भी जिम्मेदारी है. उन्‍होंने कहा कि लोकतंत्र को सशक्त बनाना हम सब का सामूहिक दायित्व है. जनता ने हमें हंगामा करने और तख्तियां दिखाने के लिए नहीं भेजा है. उन्‍होंने  सांसदों से अपील की कि आप सदन के माध्यम से सरकार तक जनता की समस्याएं पहुंचाएं. इसके बाद भी हंगामा जारी रहा, इसे देखते हुए लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने 12 बजे तक कार्रवाई स्थगित कर दी. उधर, सुबह 11 बजे उच्‍च सदन राज्‍यसभा की कार्यवाही शुरू होते ही सदस्‍यों ने हंगामा शुरू कर दिया. सभापति वेंकैया नायडू ने विपक्षी सदस्‍यों से अपनी सीट पर वापस जाने की और पोस्‍टर नहीं लहराने की अपील की, लेकिन इसका असर नहीं हुआ. सदस्‍यों के हंगामे के चलते कार्यवाही स्‍थगित करनी पड़ी. लोकसभा में भी हंगामे के कारण 12 बजे तक कार्यवाही स्‍थगित करनी पड़ी.
Sponsored Content by TaboolaYoung Couple Who Ended Up Buying A Mansion By AccidentTheWorldReads

दरअसल, पेगासस जासूसी कांड (Pegasus Spy Case) के कारण 19 जुलाई से प्रारंभ हुआ मॉनसून सत्र अब तक बुरी तरह प्रभावित रहा है. विपक्ष इस मुद्दे को लेकर सरकार के खिलाफ हमलावर रुख अख्तियार किए हुए है. विपक्ष पेगासस स्पाईवेयर विवाद की जांच कराने की मांग कर रहा है लेकिन सरकार इसके लिए रजामंद नहीं है. दूसरी ओर, कोरोना की दूसरी लहर के दौरान ऑक्‍सीजन की कमी के कारण कोई मौत नहीं होने संबंधी सरकार के जवाब ने भी विपक्ष को नाराज किया है.इससे पहले, गुरुवार को कृषि कानून वापस लेने की मांग को लेकर कांग्रेस के सांसदों ने संसद भवन में गांधी प्रतिमा के सामने प्रदर्शन किया. 

फोन हैकिंग मुद्दे पर भड़के अखिलेश यादव, बोले, BJP सरकार को ही पता नहीं तो…https://drop.ndtv.com/common/gadgets360/pricee/v2/ndtv-story-amp-mid.html?from=app&native=1&amprefurl=https%3A%2F%2Fndtv.in

 सदन में अब तक पेगासस जासूसी और महंगाई का मुद्दा मामला छाया रहा और इन मुद्दों पर कांग्रेस सहित कुछ विपक्षी दलों के सदस्यों के भारी हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही स्‍थगित करनी पड़ी है.विपक्ष संसद के मॉनसून सत्र में सरकार को तीन केंद्रीय कृषि कानूनों, पेगासस जासूसी मामला और महंगाई समेत विभिन्न विषयों पर घेरने का प्रयास कर रहा है.

संसद सत्र से ठीक एक दिन पहले पेगासस रिपोर्ट आना कोई संयोग नहीं : सरकारADVERTISEMENThttps://4987325304282789e54b295536c81d6b.safeframe.googlesyndication.com/safeframe/1-0-38/html/container.html

तृणमूल कांग्रेस पहले ही कह चुकी है कि वह संसद की कार्यवाही को तब तक बाधित करती रहेगी जब तक सरकार पेगासस जासूसी और निगरानी मामले में लगे आरोपों से बेदाग बाहर नहीं आती और इस पर दोनों सदनों में चर्चा के लिये तैयार नहीं होती. पार्टी ने कहा कि हालांकि वह कोरोना वायरस की स्थिति या उससे संबंधित किसी पहलू पर होने वाली किसी चर्चा को नहीं रोकेगी।तृणमूल कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य डेरेक ओ ब्रायन ने कहा, “यह (पेगासस स्पाईवेयर) एक गंभीर मुद्दा है और तृणमूल इस पर समझौता नहीं करेगी. हम दोनों सदनों में से किसी भी सदन को तब तक चलने नहीं देंगे जब तक सरकार जासूसी और निगरानी के आरोपों से बेदाग नहीं निकलती. देश जब महामारी से जूझ रहा था तो सरकार ने फोन हैक करने के लिये एक बार में करोड़ों खर्च किए.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *